न डर है दुश्मनो का न खौफजदा किसी से !

न डर है दुश्मनो का न खौफजदा किसी से !

कौन कहता है कि मुहब्बत कि जुबा होती है !
ये हकीकत तो निगाहों से बया होती है !!

वो न आये तो सताती है खलिश दिल को !
वो आ जाये तो खालिस और जवा होती है !!
रूह को शाद करे दिल को नूर -नूर करे !
हर नज़ारे में ये नस्फीत कहाँ होती है !!
जपते शेला पे महमत को कहा तक रोके !
दिल में जो बात है वो आँखो से बया होती है !१
ज़िन्दगी एक सुलगती सी चिता है साहिब !
शोला बनती है ये न बुझ के धुँआ होती है !!

मै चाँद नहीं झोपड़े का दिया हूँ !
मै गरीबी के अँधेरे में चुपचाप जला हूँ !!
क्या सर्द हवाओ का असर मुझ पर होगा !
मै गम के तुफानो से हसकर मिला हूँ !!
फ़ुटपातो पर सफर करके पाई है मंजिल मैने !
वो सब कैसे भूलू यारो मै दिल का जला हूँ !!
न डर है दुश्मनो का न खौफजदा किसी से !
मै अपने बुजुगों की दुआओ का सिला हूँ !!

दिल को सुकून रूह को आराम आ गया !
मौत आयी ही थी कि उनका पैगाम आ गया !!
दीवानगी हो अकल हो उम्मीद हो कि आस !
अपना वही है जो वक़्त पे काम आ गया !!
ये क्या मुक़ामे इश्क़ है कि ज़ालिम इन दिनों !

kaun kahata hai ki muhabbat ki juba hotee hai !

ye hakeekat to nigaahon se baya hotee hai !!

vo na aaye to sataatee hai khalish dil ko !

vo aa jaaye to khaalis aur java hotee hai !!

rooh ko shaad kare dil ko noor -noor kare !

har nazaare mein ye naspheet kahaan hotee hai !!

japate shela pe mahamat ko kaha tak roke !

dil mein jo baat hai vo aankho se baya hotee hai !

1 zindagee ek sulagatee see chita hai saahib !

shola banatee hai ye na bujh ke dhuna hotee hai !!

mai chaand nahin jhopade ka diya hoon !

mai gareebee ke andhere mein chupachaap jala hoon !!

kya sard havao ka asar mujh par hoga !

mai gam ke tuphaano se hasakar mila hoon !!

futapaato par saphar karake paee hai manjil maine !

vo sab kaise bhooloo yaaro mai dil ka jala hoon !!

na dar hai dushmano ka na khauphajada kisee se !

mai apane bujugon kee duao ka sila hoon !!

dil ko sukoon rooh ko aaraam aa gaya !

maut aayee hee thee ki unaka paigaam aa gaya !!

deevaanagee ho akal ho ummeed ho ki aas !

apana vahee hai jo vaqt pe kaam aa gaya !!

ye kya muqaame ishq hai ki zaalim in dinon !

Leave a Reply