बेकदर तुम्हे क्या खबर नहीं !

बेकदर तुम्हे क्या खबर नहीं !

बेकदर तुम्हे क्या खबर नहीं !

हर जख्म अभी भी ताजा है !!

जीने दो इन  जखमो को  !

सीने की कसम क्यों देते हो !!

Leave a Reply