दामन से आंसुओ के निशां यु बिखर गए !

दामन से आंसुओ के निशां यु बिखर गए !  जितने थे दाग दिल के मेरे सब सवर गए !!  करने को कत्ल मेरा वो कर रहे साजिश !  हम जीते जी ज़माने में चुपचाप मर गए !!
दामन से आंसुओ के निशां यु बिखर गए !
जितने थे दाग दिल के मेरे सब सवर गए !!
करने को कत्ल मेरा वो कर रहे साजिश !
हम जीते जी ज़माने में चुपचाप मर गए !!

No comments

Powered by Blogger.