तेरे मुहब्बत का शिकार हुआ है !

तेरे मुहब्बत का शिकार हुआ है !

तेरे मुहब्बत का शिकार हुआ है,हाय बेवफा दिल मेरा !कैसे दिखाऊ मैं जख्म दिल का ,जब पूछते है लोग हाल मेरा !!

Tere muhabbat ka shikaar hua hai,Haay bevapha dil mera !
Kaise dikhaoo main jakhm dil ka ,Jab poochhate hai log haal mera !!


No comments

Powered by Blogger.