शब्द मुफ्त में मिलते है !

शब्द मुफ्त में मिलते है,

लेकिन !

उनके चयन पर निर्भर करता है की ,

उसकी कीमत मिलेगी या चुकानी पड़ेगी !!

 

Words are available for free,

but!

Depending on their selection,

they will be paid or paid !!

Continue Reading

फूलों की खुशबू हमेशा पास नहीं होती !

ज़िन्दगी हर पल ख़ास नहीं होती!

फूलों की खुशबू हमेशा पास नहीं होती!!

मिलना हमारे तकदीर में लिखा था!

वरना इतनी प्यारी दोस्ती हमारे इत्तेफ़ाक़ नहीं होती!!

 

Life is not special every moment,
The scent of flowers is not always near,
It was written in our fortune,
Otherwise, such loving friendship is not our coincidence.

Continue Reading

इत्तेफ़ाक़ से हम मिले !

इत्तेफ़ाक़ से हम मिले, इत्तेफ़ाक़ से आप हमें पसंद आये, इत्तेफ़ाक़ से हम दोस्त बने, हमारी दोस्ती अब इत्तेफ़ाक नहीं, ज़िन्दगी की खूबसूरत हकीकत है.

इत्तेफ़ाक़ से हम मिले,

इत्तेफ़ाक़ से आप हमें पसंद आये,

त्तेफ़ाक़ से हम दोस्त बने,

हमारी दोस्ती अब इत्तेफ़ाक नहीं,

ज़िन्दगी की खूबसूरत हकीकत है.

We met by coincidence,
You like us by chance,
We became friends by chance,
Our friendship is no longer coincidental,
Life is a beautiful reality

Continue Reading

जब दोस्ती की दास्ताँ वक़्त सुनायेगा !

जब दोस्ती की दास्ताँ वक़्त सुनायेगा, हम को भी कोई शख़्स याद आएगा , तब भूल जायेंगे ज़िन्दगी के ग़मों को , जब आप के साथ गुज़रा वक़्त याद आयेगा
जब दोस्ती की दास्ताँ वक़्त सुनायेगा, हम को भी कोई शख़्स याद आएगा , तब भूल जायेंगे ज़िन्दगी के ग़मों को , जब आप के साथ गुज़रा वक़्त याद आयेगा

जब दोस्ती की दास्ताँ वक़्त सुनायेगा !

हम को भी कोई शख़्स याद आएगा !!

तब भूल जायेंगे ज़िन्दगी के ग़मों को !

जब आप के साथ गुज़रा वक़्त याद आयेगा !!

Continue Reading

वैसे तो दुआ आपके लिये मांगते है.

वैसे तो दुआ आपके लिये मांगते है,

हमारे लिये ख़ुशी है आज का दिन,

जो नहीं दूर होना चाहते आपके बिन,
खुब सारी खुशियाँ मिले आपको इस शुभ प्रभात ,

Continue Reading

जिंदगी हादसों में अपनी तमाम हुई जाती है !

जिंदगी हादसों में अपनी तमाम हुई जाती है !

हर एक हसरत मेरी यहाँ नाकाम हुई जाती है !!

भरोसा दिलाकर लुटा है मेरे यार ने मुझको !

मुहब्बत हर मोड़ पर मेरी बदनाम हुई जाती है !!

जिंदगी है और दिले  नादाँन है !

क्या सफर है और क्या सामान है !!

मेरे गम को भी समझ तो दिखिए हुजूर !

मुस्कुरा देना तो बहुत आसान है !!


जब भी मिला तो मिल के दिल को दुखा गया !

बिछड़ा तो याद बनके रंगो में समां गया !!

कितना करीब था वो सभी दूरियों के साथ !

देकर हसींन  ख्वाब वो मुझको सुला गया !!

Continue Reading