सबकी नज़रों में हो साकी ये ज़रूरी तो नहीं !

It is not necessary to be a basher in age
May it be necessary at all times!
Drink from Chashm-e-Shaki or Drink from Lab-e-Sagar!
If it is a city of every word, it is not necessary !!
Sleep can also come in a bed of pain!
It is not necessary to have this head in their arms !!
Sheikh decorates God in the mosque!
It is not necessary to have an effect in their prostrations !!
It is not necessary for everyone to be in the eyes of Saki !!
Every word is a city of gum, it is not necessary !!

सबकी नज़रों में हो साकी ये ज़रूरी तो नहीं !
सबकी नज़रों में हो साकी ये ज़रूरी तो नहीं !

सबकी नज़रों में हो साकी ये ज़रूरी तो नहीं !!
हर शब् -ए- गम की शहर हो ये ज़रूरी तो नहीं !!
उम्र जलवो में बशर हो ये जरूरी तो नहीं !
मय आठो पहर हो ये जरूरी तो नहीं !!
चश्म -ए-शाकी से पियो या लब-ए-सागर से पियो !
हर शब् -ए-गम की शहर हो ये ज़रूरी तो नहीं !!
नींद तो दर्द के बिस्तर में भी आ सकती है !
उनके आगोश में ये सर हो ये ज़रूरी तो नहीं !!
शेख करता है मस्जिद में खुदा को सजदे !
उनके सजदों में असर हो ये ज़रूरी तो नहीं !!

sabakee nazaron mein ho saakee ye zarooree to nahin !!

har shab -e- gam kee shahar ho ye zarooree to nahin !!

umr jalavo mein bashar ho ye jarooree to nahin !

may aatho pahar ho ye jarooree to nahin !!

chashm -e-shaakee se piyo ya lab-e-saagar se piyo !

har shab -e-gam kee shahar ho ye zarooree to nahin !!

neend to dard ke bistar mein bhee aa sakatee hai !

unake aagosh mein ye sar ho ye zarooree to nahin !!

shekh karata hai masjid mein khuda ko sajade !

unake sajadon mein asar ho ye zarooree to nahin !!

Continue Reading

फूल खिलने से पहले कली बनती है!

फूल खिलने से पहले कली बनती है!

फूल खिलने से पहले कली बनती है!

 खुशियां मिलने से पहले दुआ मिलती है !!

हर सुख-दुख से गुजर जाने के बाद!
 जान से नई जिंदगी मिलती है!!
प्यार का दर्द जमाने से छुपाय रखना!
 ख्वाब जो देखे हैं पलकों पर सजाए रखना!!
लौट कर आ जाऊंगा मैं ना मायूस होना तुम !
 दिया उम्मीदों का दहलीज पर जलाए रखना!!

Continue Reading

तेरे नक्शे कदम पर सजदा कर दिया !

तेरे नक्शे कदम पर सजदा कर दिया ! यु हक़ मैंने आशिकी का अदा कर दिया !! न मैं हूं बेवफा तुम हो बेवफा ! किस्मत ने ही हम दोनों को जुदा कर दिया !!

 

तेरे नक्शे कदम पर सजदा कर दिया !

यु हक़ मैंने आशिकी का अदा कर दिया !! 

न मैं हूं बेवफा न तुम हो बेवफा ! 

किस्मत ने ही हम दोनों को जुदा कर दिया !!

Continue Reading

बचपन में लोग मेरी तस्वीर मांगते थे घर में सजाने के लिए !

बचपन में लोग मेरी तस्वीर मांगते थे घर में सजाने के लिए ! दौड़े जवानी में हसीनो ने तस्वीर मांगे दिल बहलाने के लिए !! अब बुढ़ापा है लोग तस्वीर मांगते हैं बच्चों को डराने के लिए!!!

बचपन में लोग मेरी तस्वीर मांगते थे घर में सजाने के लिए !

दौड़े जवानी में हसीनो ने तस्वीर मांगे दिल बहलाने के लिए !!

अब बुढ़ापा है लोग तस्वीर मांगते हैं बच्चों को डराने के लिए!!!

Continue Reading

ना पीना हराम है ना पिलाना हराम है !

ना पीना हराम है ना पिलाना हराम है ! पीने के बाद होश में आना हराम है !! किसने कहा शराब का पीना हराम है! अरे इसके पीए बगैर तो जीना हराम है!!

      ना पीना हराम है ना पिलाना हराम है !

पीने के बाद होश में आना हराम है !!

किसने कहा शराब का पीना हराम है!

 अरे इसके पीए बगैर तो जीना हराम है!!

Continue Reading