मुझे सूली पर चढ़ा दो, या शोलो में जला दो ! कोई शिकवा नहीं, चाहें जो भी सजा दो !

Sad Shayari

हम जैसे आशिको पे, लाखों इल्जाम होते है ! निगाहे नेक होती है, फिर भी बदनाम होते है !!

हमने माना की मोहब्बत, जिंदगी बर्बाद करती है ! यह क्या कम है कि, मर जाने के बाद दुनिया याद करती है !!

जाने ना दो हाथ से, ऐसी हसीन रात को ! बाँहों में ले लो सनम, बहारों की बारात को !!

तुम आँखों से हसीन हो, तारो से फूल हो। फूलो से रूबरू हो, बहारों से पूछ लो।

मुहब्बत ऐसी धरकन है, जो समझाई नहीं जाती !  लबो तक दिल की बेचैनी, कभी लाई नहीं जाती !!

चुप चाप तारे गिनकर, बिता देते है रात हम ! मर्जी है सब तुम्हारी जाने, कब होंगे साथ हम !!

तुम हमारी ज़िंदगी मैं आ कर क्यों हमें सताते हो, पहले पास आते हो, फिर हमें बर्बाद कर के जाती हो।

जिसे मैं अपना समझता था, दुनिया के झमेले में, उन्होंने हमारा ही दाम लगा, दिया दुनिया के मेले में।

मैं बहुत परेशान रहता हूं, ये सोचके की कोई मेरा दर्द जान ना पाए , और ये की कोई काश दर्द जानने वाला होता।